Description:

लीओ टोलस्टोय उन्नीसवीं सदी के सर्वाधिक सम्मानित लेखकों में से एक हैं। इस कहानी का हिंदी में अनुवाद भारत के महान लेखक प्रेमचंद ने किया है । कहानी की शुरूवात कुछ इस प्रकार है - दिल्ली नगर में भागीरथ नाम का युवक सौदागर रहता था। वहाँ उसकी अपनी दो दुकानें और एक रहने का मकान था। वह सुंदर था। उसके बाल कोमल, चमकीले और घुँघराले थे। वह हँसोड़ और गाने का बड़ा प्रेमी था। युवावस्था में उसे मद्य पीने की बान पड़ गई थी। अधिक पी जाने पर कभी कभी हल्ला भी मचाया करता था, परंतु विवाह कर लेने पर मद्य पीना छोड़ दिया था।